ब्लॉग का सर्च क्लिक थ्रू रेट (सीटीआर) कैसे बढ़ाएं

Blog ka Search Click-Through Rate Badhaye– ब्लॉग की सफलता के लिए जी जान से कोशिश करनी चाहिए। सर्च इंजन में अपने ब्लॉग का सर्च क्लिक थ्रू रेट बढ़ाना भी इसी का हिस्सा है। दुनिया भर में न जाने कितने लोग क्या क्या सर्च करते हैं। उन्हें तो बस अपने मतलब की जानकारी चाहिए।

लोग सर्च इंजन में ऐसा कंटेंट सर्च करते हैं जिसमें उनके काम की जानकारी हो। यह कंटेंट आर्टिकल, इंफोग्राफिक, वीडियो या ब्लॉग पोस्ट हो सकती है।

अगर आप ब्लॉग पर ज़्यादा विज़िटर्स चाहते हैं तो Google Search Click-Through Rate (CTR) बढ़ाना होगा। इस आर्टिकल में आप क्लिक थ्रू रेट बढ़ाने की जानकारी मिलेगी। जिससे आप ब्लॉग पर ट्रैफ़िक बढ़ा सकेंगे, जिससे ब्लॉग इनकम तो अपने आप बढ़ जाएगी।

ब्लॉग का सर्च क्लिक-थ्रू रेट बढ़ाएं - Search Click-through rate badhaye

Blog ka Search Click-Through Rate (CTR) Badhane Ke 7 Tips

1. Attract Karne Wali Headline Banayein

ध्यान खींचने वाली हेडलाइन बनाएं

गूगल सर्च में क्लिक थ्रू रेट बढ़ाना एक चैलेंज है। एक ध्यान खींचने वाली हेडलाइन इस काम में मदद कर सकती है। हर ब्लॉग पोस्ट के लिए हेडलाइन ज़बरदस्त होनी चाहिए ताकि यूज़र्स उसे देखें तो क्लिक किए बिना न रह पाएं।

Attractive headlines example

गूगल सर्च पेज में आपकी ब्लॉग पोस्ट #1 पर हो या #10 पर हो। लेकिन अगर वह यूज़र्स का ध्यान अपनी ओर खींच रही है तो वह क्लिक करेगा ही करेगा। जिससे Search click-through rate बढ़ जाएगा।

Keyword Research करने के अलावा आप वायरल हेडलाइन पर भी ध्यान दीजिए। जिससे ब्लॉग पोस्ट की सोशल शेयरिंग बढ़े और ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ जाए।

गूगल अपने यूज़र्स को सर्व करता है, वेबसाइट ओनर पर ध्यान नहीं देता है, गूगल बॉट के लिए यूज़र्स के हिसाब से प्रोग्राम हैं। अगर गूगल में सर्च करने वाला यूज़र ख़ुश है तो आपका कंटेंट सर्च में ऊपर जाएगा।

2. Meta Description Optimize Karein

मेटा डिस्क्रिप्शन ऑप्टिमाइज़ करें

On-Page SEO की नज़र से मेटा डिस्क्रिप्शन को ऑप्टिमाइज़ करना ज़रूरी है क्योंकि इसके बिना हेडलाइन अधूरी है। मेटा डिस्क्रिप्शन ऑप्टिमाइज़ कर लेने से गूगल सर्च में क्लिक थ्रू रेट बढ़ने लगता है।

Optimized meta description

मेटा डिस्क्रिप्शन में ब्लॉग पोस्ट के बारे में संक्षेप में बताना चाहिए। गूगल “Search Query” को मेटा डिस्क्रिप्शन में भी हाइलाइट करता है। इससे आप इसका महत्व ख़ुद समझ सकते हैं।

3. Rich Snippets Use Karein

रिच स्निप्पेट्स प्रयोग करें

सर्च इंजन रैंकिंग के लिए रिच स्निप्पेट्स भी ज़रूरी है। इसे देखकर यूज़र्स आपकी ब्लॉग पोस्ट से प्रभावित हो सकते हैं। जिससे सर्च क्लिक थ्रू रेट बढ़ता है।

Rich snippets example

आप ब्लॉग पोस्ट के हिसाब से रिच स्निप्पेट्स का प्रयोग करें। वर्डप्रेस यूज़र्स “All in One Schema.org Rich Snippets plugin” प्रयोग कर सकते हैं। इस प्लगिन से आप गूगल को बता सकते हैं कि आपकी पोस्ट क्या है, आर्टिकल है, प्रोडक्ट रिव्यू है या कोई रेसिपी है। प्लगिन में पूछी गई जानकारी भरकर आप रिच स्निप्पेट्स का फ़ायदा उठा सकते हैं।

4. Attractive Photos Use Karein

आकर्षक फोटो प्रयोग करें

अगर आपने गूगल सर्च में कभी रेसिपी सर्च की हो तो आपने ध्यान दिया होगा कि रिच स्निप्पेट्स के साथ-साथ उस रेसिपी का फोटो भी दिखता है। अगर आप एक आकर्षक फोटो लगाएं, जिस पर यूज़र्स क्लिक किए बिना आगे न बढ़ पाएं तो इससे ब्लॉग का सर्च क्लिक थ्रू रेट बढ़ सकता है।

Attractive images example

इससे ब्लॉग पोस्ट की सोशल मीडिया शेयरिंग बढ़ेगी, जिससे वेब ट्रैफिक और आमदनी दोनों बढ़ जाएंगे। आखिर आप यही तो चाहते थे।

फोटो का साइज़ कम होना चाहिए, ताकि वह जल्दी ब्लॉग पोस्ट में जल्दी लोड हो सके। इसके अलावा आपको फोटो का एसईओ भी करना चाहिए। इसके लिए फोटो का Name (eg. taj-mahal-agra.jpg) रखें, फोटो का Title लिखें, फोटो का Caption रखें, फोटो का ALT tag लिखें और फोटो का अच्छा-सा Description लिखें।

5. Breadcrumb Navigation Banayein

ब्रेडक्रम नेवीगेशन बनाएं

Organic Click-Through Rate बढ़ाने के लिए ब्रेडक्रम नेवीगेशन का प्रयोग करें। इससे यूज़र्स को ब्लॉग पोस्ट का नेवीगेशन पता चलता है। लेकिन इसका फ़ायदा मोबाइल सर्च में ही मिलता है।

Breadcrumb navigation example

प्रीमियम वर्डप्रेस थीम ब्रेडकम नेवीगेशन का विकल्प देती है। नहीं तो आप इसे “Yoast SEO plugin” से भी बना सकते हैं।

6. Post Permalink Optimize Karein

पोस्ट का परमालिंक ठीक बनाएं

ब्लॉग पोस्ट का परमालिंक सर्च में कैसे दिखता है, यह बात भी सर्च क्लिक थ्रू रेट पर असर डालती है। इसलिए परमालिंक में ब्लॉग पोस्ट हेडलाइन के हिसाब से डालें और उसे छोटा रखें। इससे यूज़र्स पर पॉज़िटिव असर पड़ता है।

Optimized permalink example

गूगल भी ऑन-पेज एसईओ की नज़र से परमालिंक पर ध्यान देता है। इससे यूज़र्स को Blog post ka Permalink URL याद रखने में आसानी रहती है।

7. Google Analytics Reports ka Fayda Lein

गूगल एनालिटिक्स रिपोर्ट विश्लेषण

आपको WordPress mein Google Analytics Plugin Install करना चाहिए। यह आपको अपने ब्लॉग के बारे में बहुत सी काम की जानकारी देगा। जिससे आप हर पोस्ट का बाउंस रेट की जानकारी कर पाएंगे। जो ब्लॉग ट्रैफ़िक और इनकम बढ़ाने में मददगार होगी। जानिए – Bounce Rate kaise kam karein

आपको यह पोस्ट कैसी लगी? अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर शेअर करन मत भूलें।

16 COMMENTS

  1. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन नलिनी जयवंत और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर …. आभार।।

  2. सभी ब्लागर्स के लिए ये बहुत की काम की जानकारी है। इससे सचमुच उनके ट्राफिक में बढ़ोतरी होगी।

  3. बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी दी है आपने. धन्यवाद.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here