गूगल सर्च में ब्लॉग पोस्ट की रैंक कैसे बढ़ायें

Google Search mein Blog Post ki Rank Kaise Badhaye? ब्लॉग पोस्ट लिख दी और वो सर्च में भी आ गई। नई पोस्ट को गूगल सर्च के पहले या फिर पांचवे पेज कहीं भी हो सकती है। जैसे जैसे समय बीतेगी उस पोस्ट की रैंक सर्च इंजन में ऊपर नीचे होती रहेगी। हो सकता है वो पहले पेज पर ऊपर आ जाए या फिर पांचवे पेज से खिसककर बीसवें पेज पर चली जाए। इस तरह किसी कीवर्ड के लिए नई पोस्ट का अपनी पोजिशन बदलना कोई नया नहीं है लेकिन नए ब्लॉगर इस खेल को नहीं समझ पाते हैं। पोस्ट टॉप पोजिशन पर आ गई तो वह खुश हो जाते हैं अगर पिछले पेज पर चली गई तो वह लिखी गई पोस्ट की क्वालिटी (blog post quality) को लेकर ही चिंतित हो जाते हैं, जबकि पोस्ट तो पूरी मेहनत करके लिखी गई थी। आइए ब्लॉग पोस्ट की गूगल रैंक बढ़ाने के टिप्स लेते हैं।

ब्लॉग पोस्ट की गूगल रैंक Blog post ki Google ranking

Matt Cutts के इस वीडियो को देख कर आपको नई पोस्ट की रैंकिंग समय के साथ बदलने के कारणों जानकारी मिलेगी।

Tips to Improve Blog Post Ranking in Google

अगर आप गूगल सर्च अपनी पोस्ट को हमेशा ऊपर चढ़ते और पहले पेज की ओर लाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ें।

गूगल के पास Caffeine नाम का एक Web Indexing System है, इसकी मदद से गूगल नई पोस्ट को जल्दी सर्च में शामिल कर लेता है। इसलिए नई पोस्ट सर्च में जल्दी दिखने लगती है। यानि आपके ब्लॉग पोस्ट प्रकाशित करते ही वह गूगल सर्च में कुछ ही घंटों में दिखने लगती है। ऐसा होने का कारण है कि अधिकतर लोग गूगल पर नई खबर की तलाश करते हैं। समय के साथ, गूगल कई पेजों में से उन पेजों को सर्च में ऊपर रखता है जिनमें क्वालिटी कंटेंट (quality content) होता है। कौन सा पेज पहले दिखाना है और कौन सा हटाना है, इस बात के लिए गूगल कुछ सिगनल्स (signals) पर विश्वास करता है।

इसी कारण से कभी कभी आपकी पोस्ट से खराब लिखी हुई पोस्ट भी सर्च में आपसे ऊपर दिखाई देती है। लेकिन कोशिश यही रहती है कि गूगल जब पेज इंडेक्स करे तो स्पैम वेबसाइट्स (spam websites) को सर्च में न दिखाया जाए। जिससे गूगल पर सर्च करने वाले लोगों को सही और संबंधित जानकारी मिल सके।

इसलिए अगर आपकी क्वालिटी ब्लॉग पोस्ट सर्च में नीचे गिर रही है तो चिंता न करें और अपना काम करते रहें। गूगल इस बात को समझ जाएगा और एक समय बाद उसे सही पोजिशन पर वापस ले आएगा। अगर आप एक हाई क्वालिटी ब्लॉग (high quality blog) चला रहे हैं तो रैंक में उतार चढ़ाव कम देखने को मिलेगा। लेकिन नए ब्लॉग और किसी औसत ब्लॉग (new and average blogs) के लिए रैंक में उतार चढ़ाव दिखना स्वाभाविक है। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आपको कुछ बातों को ध्यान में रखना होगा ताकि ब्लॉग पोस्ट की गूगल रैंक को उछाल मिल सके।

Blog Post ki Google Ranking Maintain Karne ke Tips

ब्लॉग पोस्ट की गूगल रैंक को कैसे बनाए रखें

आगे आप पढ़ेंगे कि ब्लॉग पोस्ट की गूगल रैंक को कैसे बनाए रखा जा सकता है। जैसा पहले भी बताया कि सर्च रैंकिंग में बदलाव सामान्य बात है, अगर आपके ब्लॉग पोस्ट की रैंक गिरी है तो वह संभल भी जाएगी।

1. कीवर्ड रिसर्च । Keyword Research

ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले आपको Basic Keyword Research करके पता करना चाहिए किन शब्दों को खोज कर आपकी पोस्ट को पढ़ा जा सकता है। जिनसे आपकी पोस्ट को सर्च में ऊपर आने का मौका मिलेगा। कीवर्ड रिसर्च के लिए आप Google Keyword Planner, Keyword.io या दूसरे टूल्स का प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आपको लम्बे कीवर्ड (3 से अधिक शब्दों वाले कीवर्ड) खोजने चाहिए। कम से कम 5 कीवर्ड खोजकर अपनी ब्लॉग पोस्ट में इस्तेमाल करें।

2. क्वालिटी कंटेंट | Quality Content

सर्च इंजन में अच्छी रैंक पाने के लिए Keyword research करके क्वालिटी कंटेंट लिखना चाहिए। अगर आपने इस काम को नहीं किया तो आपको अच्छे परिणाम नहीं मिलेंगे। कुछ लोग बस सर्च इंजन के हिसाब से पोस्ट लिखते हैं लेकिन ब्लॉग पाठकों को भूल जाते हैं। अगर आप ब्लॉग पाठकों को याद रखेंगे, तो आपके कंटेंट का SEO score बढ़िया रहेगा। जिसे करना बहुत आसान है:

On-page SEO Tips in Hindi:

  • कीवर्ड को पोस्ट शीर्षक में रखें
  • कीवर्ड को पोस्ट के लिंक में रखें
  • कीवर्ड को पोस्ट के अंदर H2 tag में रखें
  • कीवर्ड को पोस्ट में कई बार दोहराएं, लेकिन 2% से अधिक नहीं
  • LSI Keywords को प्रयोग करें (Learn more…)
  • कीवर्ड के साथ संबंधित बातों को Bold और Italic करें। इससे सर्च इंजन बॉट्स को ही नहीं बल्कि पाठकों को भीपोस्ट पढ़ने में आसानी होती है। सर्च इंजन बॉट्स पोस्ट के कीवर्ड को समझ लेते हैं।
  • आपको ब्लॉग पोस्ट में कम से कम 300 शब्द लिखने चाहिए लेकिन 1000 शब्द की ब्लॉग पोस्ट बहुत अच्छी मानी जाती है। लम्बी पोस्ट सर्च इंजन में आसानी से रैंक करती हैं।
  • ब्लॉग पोस्ट में इमेज, वीडियो आदि का प्रयोग करने उसकी क्वालिटी बढ़ती है।
  • Search Description में भी कीवर्ड का इस्तेमाल कीजिए
  • पेज लोड टाइम को कम कीजिए। गूगल धीमे खुलने वाली साइटों पर कम ध्यान देता है।
  • ब्लॉग पोस्ट का AMP version बनाइए, वर्डप्रेस यूजर्स ऐसा प्लगिन की मदद से कर सकते हैं।
  • प्रोडक्ट रिव्यू और रेसिपी वाली पोस्टों के लिए Rich snippets प्रयोग कीजिए।

ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले गूगल सर्च से टॉप 10 पेजों को पढ़िए और उनसे बढ़िया कंटेंट तैयार करने की कोशिश कीजिए। अपने ब्लॉग का Niche को हमेशा ध्यान दीजिए नहीं तो समय के साथ आपकी ब्लॉग पोस्ट आपके Niche पर काम करने वाले ब्लॉग पोस्टों से पिछड़ जाएगी।

3. सोशल मीडिया शेयरिंग | Social Media Sharing

सोशल मीडिया पर शेयरिंग और बुकमार्किंग गूगल रैंक बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी है। आपके ब्लॉग पर सोशल मीडिया शेयरिंग और बुकमार्किंग बटन जरूर लगे होने चाहिए। ब्लॉगर और वर्डप्रेस दोनों पर ही यह बटन लगाए जा सकते हैं। केवल नई पोस्ट नहीं बल्कि पुरानी पोस्टों को भी सोशल मीडिया – फ़ेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस आदि पर शेअर करना चाहिए। इससे पोस्ट Share और Re-share होती है और गूगल सर्च के लिए सोशल सिगनल तैयार होता है।

4. बैकलिंक बिल्डिंग । Backlink Building

अपनी ब्लॉग पोस्टों के लिए आपको लिंक बिल्डिंग करते रहनी चाहिए। इसके लिए आपको स्पैमिंग नहीं करनी चाहिए। अपने Niche वाले ब्लॉगों पर गेस्ट पोस्ट करके पोस्ट के बीच में कीवर्ड पर लिंक बनाना चाहिए।

आप जिस कीवर्ड के लिए बैकलिंक लेना चाहते हैं, आपकी गेस्ट पोस्ट भी उसी कीवर्ड से संबंधित होनी चाहिए। अगर आपका कीवर्ड “सिर दर्द” है तो आपकी पोस्ट “सिर दर्द भगाने के उपाय” होनी चाहिए। इससे गूगल बॉट्स आपके लिंक को अधिक महत्व देंगे और आपको बैकलिंक का पूरा फायदा मिलेगा। आपको “सिर दर्द” कीवर्ड से लिंक न मिल पाए तो किसी मिलते जुलते कीवर्ड जैसे “सिर का दर्द” से बैक लिंक लेने की कोशिश करें। गेस्ट पोस्ट अपने ब्लॉग से अच्छे ब्लॉग पर करनी चाहिए।

5. अधिक संबंधित पोस्टें लिखिए | Cover Related Topics

किसी विषय से संबंधित हर एक पहलू पर पोस्ट लिखिए। अगर आप “सिर दर्द भगाने के उपाय” पर पोस्ट लिख रहे हैं तो “सिर सर्द के कारण”, “सिर दर्द के लक्षण”, “माइग्रेन क्या है”, “सिर दर्द और माइग्रेन में अंतर” जैसे विषयों पर भी पोस्ट लिखें। चूंकि यूजर्स एक विषय पर संबंधित लेख सर्च करते हैं, इसलिए गूगल को सिगनल मिलेगा कि आप उन सभी को लिख रहे हैं। आप HitTail और Long Tail Pro का प्रयोग करके Long tail keywords की जानकारी कर सकते हैं।

बस अपना इतना ही कर लें तो blog post ki Google ranking / search ranking में उतार चढ़ाव कम देखने को मिलेगा। अब से keyword ranking की चिंता किए बिना अपना काम अच्छे से करते रहिए, और ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रखिए। एक बार जब गूगल आपके ब्लॉग और ब्लॉग पोस्टों को समझ लेगा रैंक बढ़ती जाएगी।

दोस्तों, आपको Improve Blog Post Ranking in Google टॉपिक पर हमारा ऑर्टिकल कैसा लगा जरूर अपना point of view शेयर करें।

1 COMMENT

  1. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन दादा साहेब फाल्के और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर …. आभार।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here