सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस गूगल ब्लॉगर से अच्छा क्यों है?

हर नया ब्लॉगर चाहता है कि उसका ब्लॉग एक सही ब्लॉगिंग प्लेटफार्म पर बनें। आप अपना ब्लॉग गूगल ब्लॉगर, वर्डप्रेस और घोस्ट जैसे बेहतरीन प्लेटफार्म पर बना सकते हैं। आप फ्री ब्लॉग के चक्कर में हैं तो गूगल ब्लॉगर को चुन सकते हैं लेकिन एक सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस ब्लॉग / Self hosted WordPress blog में ऐसा बहुत कुछ है जिसकी आपको आगे जाकर जरूरत पड़ेगी।

गूगल ब्लॉगर एक अच्छा विकल्प है, पर सबसे अच्छा विकल्प नहीं है। सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस यूँ ही नहीं दुनिया भर के लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। जो इसमें है वो आपको कहीं और नहीं मिलेगा।

पहले होस्टिंग बहुत महंगी होती थी और हिंदी ब्लॉगिंग में आदमनी भी नहीं थी, इसलिए मैंने गूगल ब्लॉगर पर फ्री ब्लॉग / Free blog बनाया था। शुरुआत अच्छी रही, लेकिन जैसे जैसे जरूरतें बढ़ीं, मुझे सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस पर आना पड़ा। मैं आपको बताने वाला हूँ कि एक Self hosted WordPress blog किस तरह Google Blogger या WordPress.com से बेहतर है।

सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस बनाम ब्लॉगर

मेरी सलाह इस लेख को पढ़ने से पहले एक बार वर्डप्रेस डैशबोर्ड / WordPress dashboard प्रयोग करके देख लें। तब इसे पढ़कर समझने में आसानी होगी।

सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस बनाम ब्लॉगर

Self Hosted WordPress Vs Google Blogger

मैं काफी समय से ब्लॉगर प्रयोग कर रहा हूँ, उसके सभी अच्छी बुरी बातें मुझे मालूम हैं। इस लेख में अच्छाइयों पर चर्चा करने की बजाय जानेंगे कि उसमें क्या नहीं है।

1. ब्लॉग का मालिक

ब्लॉगर पूरी तरह गूगल के नियंत्रण में है, आप रात में ब्लॉगिंग करके सोयें और सुबह ब्लॉग का नामोनिशान न हो। जी हाँ, गूगल ऐसा कर सकता है। इसी वजह से सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस ब्लॉग ज्यादा लोकप्रिय है। इसके अलावा ब्लॉगर ब्लॉग को फ्लैग एज स्पैम / Flag As Spam मार्क किया जा सकता है। इंटरनेट कई स्पैमर्स हजारों ब्लॉग्स को स्पैम रिपोर्ट / Spam Report कर रहे हैं। जिसके कारण बिना बात कई ब्लॉग्स गूगल टीम ने डिलीट कर दिए हैं। आप इंटरनेट पर इस बारे में सर्च करके इस बात को पक्का कर सकते हैं। ऐसी परेशानी आपको न हो इसलिए आप सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस को चुन सकते हैं।

2. सर्च इंजन ऑप्टिमाइनजेशन

आप कोई भी प्लेटफार्म प्रयोग करें, बस ब्लॉग पर विजिटर्स बढ़ते रहने चाहिए। सर्च इंजन ऑप्टिमाइनजेशन / एसईओ के द्वारा सर्च इंजन से ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ाया जाता है। ब्लॉगर पर एसईओ के बहुत सीमित विकल्प दिए गए हैं। लेकिन वहीं वर्डप्रेस पर Yoast SEO जैसे बहुत ही गजब के प्लगिन मौजूद हैं, जिसमें कई गुना बेहतर विकल्प हैं और नियमित रूप से अपडेट होते हैं।

3. तकनीकी मदद

वर्डप्रेस पर तकनीकी मदद बड़ी जबरदस्त है। हर समय कोई न कोई आपकी मदद के लिए तैयार रहता है। इंटरनेट वर्डप्रेस मदद लेखों से भरा पड़ा है। जबकि ब्लॉगर पर बहुत कम जानकारी है, तकनीकी मदद कम मिलती है। एक ब्लॉग को चलाने के लिए बहुत बंधकर रहना पड़ता है।

4. जन भावना

अधिकतर लोग फ्री ब्लॉग सुनकर ही बिदक जाते हैं। आज ब्लॉगर वर्डप्रेस की तुलना में पिछड़ गया है। ब्लैक हैट दुनिया के लोगों ने इसे ब्लैक हैट एसईओ, स्पैमिंग और एफिलिएट लैंडिंग पेज के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस पर आपका ब्लॉग देखकर लोग आपको प्रोफेशनल ब्लॉगर की तरह देखने लगते हैं। वो सोचते हैं कि पैसे लगाएं है तो यह बंदा पैसे कमाने के लिए दम खम लगा देगा।

कुछ एक सोशल मीडिया साइट जैसे Stumble upon और Reddit पर Blogspot ब्लॉग्स को बहुत ही कम पसंद किया जाता है। कस्टम डोमेन लगाने के बाद कुछ बात बन जाती है।

5. थीम्स

ब्लॉगर पर पहले तो बहुत कम थीम थीं। फ्री ब्लॉगर थीम में तो कुछ होता ही नहीं है। आज ब्लॉगर के लिए पेड ब्लॉगर थीम बिक रहीं हैं लेकिन बहुत कम हैं जो वाकई अच्छी हैं। जबकि सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस के लिए प्रीमियम थीम्स की भरमार है। आप जैसी चाहें वैसी थीम खरीद सकते हैं। नहीं तो वर्डप्रेस डिजाइनर से एकदम नई तरह की थीम बनवा सकते हैं।

6. प्लगिंस

वर्डप्रेस पर लगभग ब्लॉगिंग और सभी तरह की वेबसाइट चलाने के लिए हर प्लगिन मौजूद है। अगर नहीं भी है तो आप खुद प्लगिन बना या बनवाकर प्रयोग कर सकते हैं। इसके विपरीत ब्लॉगर में प्लगिन की जगह गैजेट हैं, जो बस गिनती के लिए हैं। जिनसे फ्री ब्लॉग बनाकर थोड़ा बहुत काम किया जा सकता है।

6. आमदनी

पहले जब हिंदी ब्लॉग के लिए ऐडसेंस मान्य हुआ तो बड़ी आसानी से ऐडसेंस खाता मिल रहा था। लेकिन फिर गूगल ने सख्ती दिखाई। आज सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस पर डोमेन वाली ईमेल एड्रेस लगाकर ऐडसेंस खाता स्वीकृत कराना सरल है। आगे आप खुद ही समझदार हैं।

इसके अलावा बहुत से ऐड नेटवर्क गूगल ब्लॉगर पर बने ब्लॉगों पर विज्ञापन करने से हिचकते हैं।

7. खरीदना बेचना

बहुत से लोग ब्लॉग बनाकर बेचने का काम करते हैं। यह ब्लॉग इंटरनेट मार्केटिंग में काम आते हैं। इससे पैसे कमाते हैं। गूगल ब्लॉग बनाकर उसे खरीदने बेचने के अनुमति नहीं देता है। वहीं सेल्फ होस्टेड वर्डप्रेस ब्लॉग को कभी भी खरीदा बेचा जा सकता है।

8. अपडेट

ब्लॉगर टीम अपडेट देने में बहुत धीमी है। दुनिया जानें कहाँ से कहाँ आ गई पर ब्लॉगर वहीं पड़ा हुआ है। वहीं दूसरी ओर वर्डप्रेस लगातार थोड़े थोड़े दिनों पर अपडेट होता रहता है। इसके थीम और प्लगिन भी नियमित अपडेट होते रहते हैं।

9. मजे की बात

आप गूगल टीम की तरफ से आयोजित एसईओ हैंगआउट में जरूर प्रतिभाग करते होंगे। वहां भी एक्सपर्ट ब्लॉगर की जगह वर्डप्रेस पर ही बात करते हैं। ब्लॉगर के बारे में उन्हें बहुत कम जानकारी रहती हैं। कुछ पूछो तो वह आपका फीडबैक लेकर चले जाते हैं। आगे जो होता है उसमें सालों लगते हैं।

आशा करता हूँ इस लेख को पढ़कर आपको Self hosted WordPress blog के बारे में कुछ सीखने को मिला होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here