साइट की रैंक बढ़ाने वाले फ़ैक्टर

आज के समय में सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन कुछ पेजों को किसी कीवर्ड के लिए सर्च में बढ़िया रैंक दिलाना भर नहीं है। समय के साथ एसईओ भी बदल जाता है, जिससे आपकी साइट सर्च इंजन में रैंक भी ऊपर नीचे होती है। साइट की रैंक बढ़ाने वाले कई तथ्यों और एल्गोरिद्म अपडेट के कारण ऐसा होता है। इसलिए ज़रूरी है कि आप एक अच्छे एसईओ एक्पर्ट के सम्पर्क में रहें जिससे आपकी साइट की रैंक सर्च इंजन में सदा सही जगह दिखती रहे।

आज हम आपको ऐसी 5 बातें बताने जा रहे हैं जो न केवल आपकी साइट की रैंक बढ़ाने में सहायता करेंगी बल्कि लम्बे समय तक आप सर्च इंजन में अपनी रैंक को स्थायी बनाए रख पाएंगे।

साइट की रैंक बढ़ाने वाले फ़ैक्टर

साइट की रैंक बढ़ाने के लिए ज़रूरी क़दम

1. 404 पेजों को इंबाउंड लिंक्स पर रिडायरेक्ट कीजिए

जब आप 404 पेजों को किसी अन्य लेख पर रिडारेक्ट कर देते हैं तो वह पेज अच्छी रैंक पा सकता है। अपनी साइट पर 404 पेजों की जानकारी प्राप्त करने के लिए कई टूल्स मौजूद हैं। 404 पेजों की सूची तैयार करके उन्हें सम्बंधित पेजों पर रिडायरेक्ट करवा दें। इस तरह से 404 पेजों तक आने वाला लिंक जूस आपके नए पेजों तक आ जाएगा जिससे उन पेजों की रैंक सुधर जाएगी।

2. अच्छी रैंक प्राप्त करने के लिए तैयार पेजों पर काम करें

अपनी उन पेजों की सूची बनाएंगे जो अच्छी रैंक पाने के बहुत क़रीब हैं और उन पर पूरी मेहनत से काम कीजिए। ये वे पेज हैं जो सर्च इंजन में दूसरे पेज पर होते हैं। आप अपनी साइट के सबसे प्रमाणिक पेजों की जानकारी कीजिए और इन पेजों पर जल्द ही रैंक करने वाले पेजों को लिंक कर दीजिए।

3. गूगल बिजनेस का प्रयोग कीजिए

जब किसी साइट या पेज को रैंक कराना चाहें जो गूगल बिजनेस का प्रयोग कर सकते हैं। इसलिए सही कीवर्ड का प्रयोग करके सही कैटेगरी में ज़रूरी साइटेशन (Citation) करना चाहिए। इससे साइट की रैंक बहुत तेज़ी बढ़ती है। कस्टमर रिव्यू भी प्राप्त करें तो और भी अच्छा है।

4. टाइटिल टैग्स को ऑप्टिमाइज़ कीजिए

आपने बहुत बार सुना होगा मगर यक़ीन जानिए टाइटिल टैग्स को ऑप्टिमाइज़ करना बहुत ज़रूरी है, ताकि आपकी साइट का हर पेज अच्छी रैंक पा सके। इसलिए कभी इस काम को करना मत भूलें।

5. रोबॉट्स.टेक्स्ट (Robots.txt) फ़ाइल सही करें

कभी कभी हमें रोबॉट्स.टेक्स्ट फ़ाइल पर भी नज़र डालनी चाहिए और पता करना चाहिए कि कहीं कोई ज़रूरी पेज तो ब्लॉक नहीं हो रहा है। अगर आपको लगे कि कहीं कुछ ग़लत है और आप उसके बारे में ज़्यादा नहीं समझते हैं तो किसी एसईओ एक्सपर्ट की सलाह लीजिए।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here